Khatu Shyam Ji Mandir | खाटू श्याम जी मंदिर | श्री खाटू श्याम जी मंदिर के साथ साथ राजस्थान में घूमने के लिए यह 10 सबसे अच्छी जगहें

Khatu Shyam

श्री खाटू श्याम जी मंदिर | Khatu Shyam Ji Temple  

भारत देश के राजस्थान राज्य के सीकर जिले में एक प्रसिद्ध कस्बा है, जहाँ पर बाबा श्याम का विश्व विख्यात मंदिर है।श्री खाटू श्याम जी ( Khatu Shyam Ji ) मंदिर करीब 1000 साल पुराना है जिसे 1720 में अभय सिंह जी द्वारा मंदिर का पुनर्निर्माण कराया गया था

इस मंदिर में भीम के पौत्र और घटोत्कच के तीनों पुत्रों में से ज्येष्ठ पुत्र बर्बरीक के सिर की पूजा होती है। जबकि बर्बरीक के धड़ की जा हरियाणा के हिसार जिले के एक छोटे से गांव स्याहड़वा में होती है। श्री खाटू श्याम जी मंदिर ( Khatu Shyam Ji Temple ) यदि आप एक शांत माहौल के साथ एक धार्मिक स्थान की तलाश कर रहे हैं तो खाटू श्यामजी मंदिर की यात्रा अवश्य करें। शहर के सबसे प्रतिष्ठित तीर्थस्थलों में से एक, मूर्ति का पुष्प श्रंगार अपनी तरह का अनूठा है। मंदिर तक रींगस जंक्शन द्वारा पहुँचा जा सकता है या सड़क मार्ग से आसानी से पहुँचा जा सकता है। कार से ड्राइव करने में 4 घंटे लगेंगे, फिर भी, मंदिर आपको एक दुर्लभ अनुभव प्रदान करेगा। साथ ही, मंदिर से 100 मीटर की दूरी पर स्थित एक तालाब भी है जो आगंतुकों का ध्यान आकर्षित करता है। जब आप यहां हों तो आप श्याम कुंड, श्याम बागची और गौरी शंकर मंदिर भी देख सकते हैं।

श्री खाटू श्याम जी Khatu Shyam Ji
श्री खाटू श्याम जी Khatu Shyam Ji

Shree Khatu Shyam जी मंदिर घूमने का सबसे अच्छा समय:

फाल्गुन मेला – फाल्गुन मेला श्री खाटू श्याम जी का मुख्य त्योहार है और मार्च के महीने के आसपास राजस्थान का सबसे बड़ा त्योहार है। इस समय आपको इनके दर्शन जरूर करने चाहिए | लेकिन अक्टूबर से मार्च के बीच श्री खाटू श्याम जी मंदिर घूमने का सबसे अच्छा समय है ।

Shree Khatu Shyam जी कैसे पहुंचे

श्री खाटू श्याम जी मंदिर तक पहुंचने का सबसे अच्छा संभव तरीका एक निजी टैक्सी किराए पर लेना है। रींगस जंक्शन सीकर जंक्शन व जयपुर रेल्वे स्टेशन मंदिर व गांव के निकटतम रेलवे स्टेशन है।])

श्री खाटू श्याम जी ऑनलाइन बुकिंग उपलब्ध :-

(श्याम मंदिर समिति ने श्री खाटू श्याम जी दर्शन पंजीकरण के लिए एक समर्पित पोर्टल लॉन्च किया । www.shrishyamdarshan.in का उपयोग करके भक्त उपलब्ध समय स्लॉट के भीतर खाटू श्याम दर्शन के लिए ऑनलाइन टिकट बुक कर सकते हैं।)

श्री खाटू श्याम जी मंदिर के ऑनलाइन दर्शन के लिए पंजीकरण करने के चरण

  • इन चरणों का पालन करके कोई भी आसानी से श्री खाटू श्याम जी मंदिर के लिए ऑनलाइन टिकट बुक कर सकता है । 
  • नीचे दिए गए ऑनलाइन दर्शन लिंक के लिए बनाए गए समर्पित पोर्टल पर जाएं।
  • फिर “छोड़ें” बटन दबाएं।
  • ” दर्शन पंजीकरण ” के लिए लिंक ढूंढें लिंक खोलें।
  • टिकट के प्रकार अर्थात सामान्य, तत्काल या विदेशी टिकट का चयन करें।
  • दर्शन उपलब्धता की जांच करने के लिए एक तिथि और समय चुनें।
  • पंजीकरण के लिए आवश्यक विवरण दर्ज करें।
  • फॉर्म जमा करने से पहले विवरण सत्यापित करें।
  • बुकिंग आईडी के साथ एक पुष्टिकरण संदेश पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा।

श्री खाटू श्याम जी (Khatu Shyam Ji) की आरती का समय

  • श्री खाटू श्याम जी की आरती आरती का नाम आरती का समय
    • मंगला आरती सुबह 4.30 बजे
    • श्रृंगार आरती सुबह 7.00 बजे
    • भोग आरती दोपहर 01.30 बजे
    • संध्या आरती शाम 07.30 बजे
    • शयन आरती रात 10 बजे

श्री खाटू श्याम जी की यात्रा शुरू करने से पहले कुछ सुझाव

यदि किसी भक्त को श्री खाटू श्याम जी पंजीकरण के संबंध में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, तो वह @ 01576 – 231182, 231482 पर संपर्क कर सकता है। खाटू श्याम मंदिर ज्यादातर समय खुला रहता है और जो मंदिर के दर्शन करना चाहते हैं उनके लिए ऑनलाइन पंजीकरण अनिवार्य है।

सीकर राजस्थान में श्री खाटू श्याम जी मंदिर के पास घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें हैं

  • देवगढ़ किला, सीकर Devgarh Fort,Sikar
  • हर्ष नाथ मंदिर Harsh Nath Temple
  • सेठ रामगोपाल पोद्दार छत्री Seth Ramgopal Poddar Chhatri
  • लक्ष्मणगढ़ किला Laxmangarh Fort
  • गोपीनाथजी मंदिर Gopinathji Temple
  • माधो निवास कोठी Madho Niwas Kothi
  • जीण माता मंदिर Jeen Mata Mandir
  • सरदूल सिंह की छतरी Cenotaph of Sardul Singh

1. देवगढ़ किला, सीकर

देवगढ़ किला सीकर से लगभग 10 किमी दूर हर्षनाथ रोड पर स्थित है। 1787 में राव राजा देवी सिंह द्वारा निर्मित, इस जगह में एक किला है जो एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल बना हुआ है। शाही निवास के अलावा, शहर के केंद्र में कुंजबिहारी मंदिर है जो यात्रियों की बकेट लिस्ट में सबसे ऊपर रहता है। देवगढ़ के अपने भ्रमण पर दशावतार मंदिर और महास्तंभ मंदिर देखें।

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय: अक्टूबर से मार्च देवगढ़ जाने का सबसे अच्छा समय है क्योंकि यह बहुत गर्म नहीं है।

कैसे पहुंचे: इस स्थान तक रेल और सड़क परिवहन द्वारा पहुंचा जा सकता है। यह प्रमुख शहरों से बसों और ट्रेनों के नेटवर्क से जुड़ा हुआ है। देवगढ़ का निकटतम हवाई अड्डा उदयपुर हवाई अड्डा है, जो 135 किमी दूर है। सीकर जंक्शन तक ट्रेनें चलती रहती हैं जिसके बाद आपको बस या टैक्सी लेनी होगी।

देवगढ़ किला, सीकर Devgarh Fort,Sikar
देवगढ़ किला, सीकर Devgarh Fort,Sikar

2. हर्ष नाथ मंदिर

यह एक पहाड़ी के ऊपर स्थित भगवान शिव को समर्पित एक बहुत पुराना मंदिर है। भले ही उस जगह तक ड्राइव करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन जगह पर पहुंचने के बाद आपके प्रयासों को पुरस्कृत किया जाएगा। ऊपर से दृश्य अद्भुत है जो आगंतुकों को विस्मय में छोड़ देता है। यह जगह शहर से 14 किमी दूर है और हर आगंतुक को अपने मनोरम दृश्य से आश्चर्यचकित कर देती है। इस जगह की समृद्ध भव्यता इसे सीकर के पास घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक बनाती है। खाटू श्यामजी मंदिर, शिकारगढ़ और माधो निवास कोठी मंदिर के आसपास के कुछ प्रमुख आकर्षण हैं।

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय: अक्टूबर से मार्च सबसे अच्छा समय है क्योंकि यात्रा करने के लिए जलवायु बहुत गर्म नहीं है। मंदिर के भ्रमण की योजना बनाने के लिए मानसून एक और अच्छा समय है।

कैसे पहुंचे: इस जगह तक सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। मंदिर जाने के लिए आप एक निजी टैक्सी या ऑटो ले सकते हैं क्योंकि यह सीकर जिले में ही स्थित है।

हर्ष नाथ मंदिर Harsh Nath Temple
हर्ष नाथ मंदिर Harsh Nath Temple

3. सेठ रामगोपाल पोद्दार छत्री

यह शहर के सबसे कम आंका जाने वाले स्थानों में से एक है। सुंदर संरचना में अद्भुत दीवार भित्ति चित्र हैं जो 100 वर्ष से अधिक पुराने हैं। जगह की सुंदर वास्तुकला इसे आंखों और आत्मा के लिए एक सुंदर इलाज बनाती है। स्मारक बहुत सारे दीवार चित्रों से भरा हुआ है जो इसे फोटोग्राफी के लिए एक अविश्वसनीय स्थान बनाता है। सीकर के आसपास घूमने के लिए यह सबसे अच्छी जगहों में से एक है, इसलिए इसे अपनी यात्रा किट में शामिल करना सुनिश्चित करें।

घूमने का सबसे अच्छा समय: पूरे साल, लेकिन बेहतर होगा कि अक्टूबर से मार्च के बीच।

कैसे पहुंचे: इस जगह तक सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। हालांकि हवाई मार्ग से कोई सीधा संपर्क नहीं है; कोई उदयपुर हवाई अड्डे से जगह तक पहुँचने के लिए टैक्सी ले सकता है।

सेठ रामगोपाल पोद्दार छत्री Seth Ramgopal Poddar Chhatri
सेठ रामगोपाल पोद्दार छत्री Seth Ramgopal Poddar Chhatri

4. लक्ष्मणगढ़ किला

यह सीकर जिले के शेखावाटी क्षेत्र में स्थित अपनी तरह का एक किला है। किला समृद्ध वास्तुकला में प्रचुर मात्रा में है और एक चट्टानी पहाड़ के ऊपर बनाया गया है। हालांकि किले को अब एक निजी संपत्ति माना जाता है, लेकिन भगवान हनुमान को समर्पित एक मंदिर जनता के लिए खुला है। किला अपने पैरों पर शहर की एक बहुत ही सुंदर झलक देता है और एक शीर्ष पर्यटन स्थल है।

घूमने का सबसे अच्छा समय: पूरे साल भर।

कैसे पहुंचे: इस जगह तक सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। हालांकि कोई सीधा संपर्क नहीं है; जगह तक पहुँचने के लिए हवाई अड्डे से टैक्सी ले सकते हैं।

लक्ष्मणगढ़ किला Laxmangarh Fort
लक्ष्मणगढ़ किला Laxmangarh Fort

5. गोपीनाथजी मंदिर

सीकर शहर के मध्य में स्थित यह मंदिर वास्तुकला से परिपूर्ण है। मंदिर की दीवारों में भित्ति चित्र इसके पवित्र वातावरण में चार चांद लगाते हैं। जगह का समग्र वातावरण इसे भगवान की प्रार्थना करने के लिए एक बहुत ही शांत और दिव्य स्थान बनाता है। सीकर के पास घूमने के लिए यह वास्तव में अविश्वसनीय जगहों में से एक है।

स्थान: सुभाष चौक, सीकर, राजस्थान 332001
यात्रा करने का सबसे अच्छा समय: अक्टूबर-मार्च
कैसे पहुंचा जाये: बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन से एक ऑटो लें।

गोपीनाथजी मंदिर Gopinathji Temple
गोपीनाथजी मंदिर Gopinathji Temple

6. माधो निवास कोठी

यह आदर्श रूप से सीकर जिले में देखने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। यह विशेष स्थान इतिहास की अंतर्दृष्टि से भरा हुआ है और आपको देखने के लिए एक शानदार दृश्य प्रदान करता है। हवेली का निर्माण एचएच माधव सिंह जी द्वारा किया गया था और यह प्राचीन युग के राजाओं के जीवन की एक झलक प्रदान करता है। जिले के सबसे पुराने स्थानों में से एक यह शानदार भित्तिचित्रों और कुछ सुनहरे चित्रों के साथ सन्निहित है।

स्थान: बायोस्कोप, देवीपुरा, सीकर, राजस्थान 332001

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय: अक्टूबर – मार्च

कैसे पहुंचे: इस जगह तक सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। हवाई अड्डा: हालांकि कोई सीधा संपर्क नहीं है; जगह तक पहुँचने के लिए हवाई अड्डे से टैक्सी ले सकते हैं।

माधो निवास कोठी Madho Niwas Kothi
माधो निवास कोठी Madho Niwas Kothi

7. जीण माता मंदिर

मंदिर हिंदू पौराणिक कथाओं में महिला देवताओं में से एक को समर्पित है। यह स्थान सीकर जिले के रेवासा गांव में स्थित है। मंदिर पहाड़ की चोटी पर स्थित है और वहाँ तक पहुँचने के लिए “काजला शिकार” के साथ चलना पड़ता है। जगह की समग्र प्राकृतिक सुंदरता बहुत सारे खूबसूरत नजारे पेश करती है जो मन को शांति प्रदान करते हैं। एक कहावत यह भी है कि जो कोई भी यहां अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बनाता है, वह आखिरकार हकीकत बन जाता है। अविश्वसनीय लेकिन विश्वास करना कठिन है कि यह सीकर के पास घूमने के लिए सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। काजल शिखर मंदिर, हर्षनाथ भेरूजी मंदिर, स्यालू सागर झील मंदिर के पास अन्य दर्शनीय स्थल हैं। सीकर से दूरी: 29 कि.मी

घूमने का सबसे अच्छा समय: जीण माता मंदिर की यात्रा के लिए अक्टूबर-मार्च और जुलाई-अगस्त दो सबसे अच्छे समय हैं

कैसे पहुंचा जाये: सीकर रेलवे जंक्शन या बस स्टैंड से मंदिर के लिए एक ऑटो लें या एक निजी टैक्सी किराए पर लें। यहां पहुंचने में आपको आधा घंटा लगना चाहिए।

जीण माता मंदिर Jeen Mata Mandir
जीण माता मंदिर Jeen Mata Mandir
जीण माता मंदिर Jeen Mata Mandir gate
जीण माता मंदिर Jeen Mata Mandir gate

8. सरदूल सिंह की छतरी

अगर आप छुट्टियों में घूमने जा रहे हैं और सीकर जिले का दौरा कर रहे हैं तो आपको इस जगह को किसी भी कीमत पर मिस नहीं करना चाहिए। स्मारक कला से आच्छादित क्षेत्र का हंस गीत है जो शेखावाटी क्षेत्र की सांस्कृतिक समृद्धि को दर्शाता है। नवलगढ़ क्षेत्र में स्थित, स्मारक अपनी सुंदर वास्तुकला और दीवारों पर अलंकृत डिजाइन के लिए जाना जाता है। यदि आप कला के एक उत्साही प्रेमी हैं तो इस स्मारक को देखने से आपको जीवन भर के लिए एक शानदार अनुभव मिलेगा।

स्थान: सीकर जिला, राजस्थान

यात्रा करने का सबसे अच्छा समय: अक्टूबर – मार्च कैसे पहुंचा जाये: नवलगढ़ के माध्यम से सड़क मार्ग से इस स्थान तक पहुँचा जा सकता है। सीकर जंक्शन से टैक्सी या बस लें।

सरदूल सिंह की छतरी Cenotaph of Sardul Singh
सरदूल सिंह की छतरी Cenotaph of Sardul Singh

श्री खाटू श्याम जी में आम दिनों में और त्योहार के दिनों में भोजन,रहने और यात्रा की अनुमानित लागत

श्री खाटू श्याम जी यात्रा का खर्च-

सिंधी कैम्प बस स्टैंड से बस का किराया
81 से 100 rs पुरुष के लिए
61 से 90 rs महिला के लिए
Ac बसे भी उपलब्ध हैं online available
मात्र से 3 घंटों में सिंध बस स्टैंड से खाटूश्यामजी मंदिर पहुंचने में लगते हैं

रींगस स्टेशन व बस स्टैंड से किराया
50 से 80 rs पुरुष व महिला के लिए सिर्फ छोटे वाहन जाते हैं जेसे जीप tempu
मात्र 1 से 2 घंटों में रींगस बस स्टैंड से खाटूश्यामजी मंदिर पहुंचने में लगते हैं
खाटू बस स्टैंड से खाटूश्यामजी श्याम मंदिर 20 se 50 rs पुरुष व महिला E- रिक्शा के द्वारा

श्री खाटू श्याम में रहने या आराम करने के लिए सर्वोत्तम स्थान

आपको यहां 300 से लेकर 3000 तक के रूम पर day चार्ज तक के रूम मिल जाएंगे

श्री खाटू श्याम में खाने का अनुमानित खर्च

एक समय मे एक व्यक्ती का खाने का खर्च 100 से 200 तक आता हैं

कुछ खाने की बेहतरीन जगह हैं

  1. Hotel Sawamani And Restaurant
    • Service options: Dine-in · Takeaway · No-contact delivery
    • Address: Near Shree Shyam Mitra Mandal Dharamshala Khatu, Shyamji, Rajasthan 332602
    • Hours: Closes soon ⋅ 11:54 pm ⋅ Opens 8 am Thu
    • Phone: 091166 64311
  2. Hotel Chanda place
    • Service options: Dine-in · Takeaway · Delivery
    • Address: Hotel Chanda place khatushyamji Mittar mandal, Rajasthan 332602
    • Hours: Open 24 hours
  3. OM KHENDELWAL PAVITRA BHOJNALAYA
    • Service options: Dine-in · Takeaway
    • Address: SHYAM JI, SHYAM MANDIR ROAD KHATU SHYAM JI KHATU, Khatoo, Rajasthan 332602

श्री खाटू श्याम में रहने वे खाने का सम्पूर्ण खर्च यात्रा का खर्चा –

200 से 300 प्रति व्यक्ती प्रति दिन भोजन का खर्च-
450 से 800 प्रति व्यक्ति प्रति दिन रहने का खर्च –
300 से 1000 प्रति व्यक्ति प्रति दिन
सम्पूर्ण खर्च। – 950 से 2000 प्रति व्यक्ति प्रति दिन

See Some More Destination

Table of Contents